Search the web

Custom Search

Thursday, March 24, 2011

"पलटा मानुश" (1985) by Malay Roy Choudhery


खतित; धर्म-च्युत:

और ज़िहाद को मुखातिब.

राजश्री-हीन, एक सम्राट

पतित स्त्रियाँ- हरमगामी.

नादिर शाह से तालीमशुदा

तलवार को चूम, जंग को तैयार

हवा पर सवार घोडी;

मशालयुक्त मैं घुडसवार.

टूटे-बिखरे जंगी शामियानों की तरफ़

बढता हुआ मैं.

धू-धू जलते नगर

के दरमियान;

एक नंगा पुजारी-

शिवलिंग के साथ

फ़रार..

-Malay Roy Chaudhery

Translated from Bengali and English

by Diwakar A P Pal

dated : 21 March, 2011

No comments:

Post a Comment